home / News / खगोलविदों ने दो नई आकाशगंगाओं को खोजा जो धूल के पर्दे के पीछे ‘छिपी’

खगोलविदों ने दो नई आकाशगंगाओं को खोजा जो धूल के पर्दे के पीछे ‘छिपी’

06.12.2021_19.41.31_REC
  • Updated
  • Version -
  • Requirements Android -
  • Developers
  • Genre News
  • Google Play
Rate this post
  • Votes: 26
  • Comments: 0
Popularity 25.7% 25.7%

Screenshots

Rate this post

ब्रह्मांड के रहस्य उससे कहीं अधिक आकर्षक हैं, जिसकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता। उदाहरण के लिए, ब्रह्मांड में रहस्यमय चाप इतने रहस्यमय हैं कि उन्हें अक्सर खगोलविदों द्वारा हल किया जाता है।
उन्होंने पाया कि इन आकाशगंगाओं से प्रकाश पृथ्वी तक पहुंचने के लिए लगभग 13 अरब वर्ष की यात्रा कर चुका है। हालाँकि, यह अभी भी उस स्थान से बहुत दूर है जहाँ यह पहली बार ब्रह्मांड में प्रकट हुआ था।
शोधकर्ताओं ने पता लगाया है कि प्रारंभिक ब्रह्मांड में आकाशगंगाएँ धूल के बादलों के पीछे छिपी थीं। उन्होंने अनुमान लगाया कि ब्रह्मांड का 20 प्रतिशत तक अंधेरे में छिपा हो सकता है।
वे ब्रह्मांडीय वस्तुओं की जांच के लिए हबल स्पेस टेलीस्कोप का उपयोग करते हैं। टेलीस्कोप के अलावा, वे ALMA टेलीस्कोप का भी उपयोग करते हैं, जो विभिन्न तरंग दैर्ध्य पर काम कर सकता है।
पास्कल ओश ने समझाया कि जब उन्होंने ब्रह्मांड की कुछ सबसे दूर की आकाशगंगाओं को देखा, तो उन्होंने देखा कि उनमें से दो का एक अजीब पड़ोसी था।
नई किताब “द बिग पज़ल” के लिए भौतिक विज्ञानी टिमोथी ओश और उनकी टीम ब्रह्मांड के बारे में बुनियादी सवालों के जवाब देने की कोशिश कर रहे हैं।
दुनिया के खगोलविद ऐसे शक्तिशाली उपकरणों के आने का इंतजार कर रहे हैं जो उन्हें अंतरिक्ष में अपना काम करने में मदद कर सकें। इन्हीं में से एक है जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप।
ऑर्बिटल की इस कड़ी में, हम चर्चा करते हैं कि ब्लैक फ्राइडे और साइबर वीक 2021 से क्या उम्मीद की जाए।

06.12.2021_19.41.31_REC
Download खगोलविदों ने दो नई आकाशगंगाओं को खोजा जो धूल के पर्दे के पीछे ‘छिपी’ 
Originals APK

Take a comment